JEE Mains 2024 के लिए नया Syllabus जारी, फिजिक्स और केमिस्ट्री से कई टॉपिक्स हटाए गए

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने JEE Mains 2024 के लिए नया सिलेबस जारी कर दिया है। इसमें फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथेमेटिक्स विषयों से कई टॉपिक्स हटाए गए हैं। ये टॉपिक्स करंट टाइम्स के मुताबिक 11वीं और 12वीं की NCERT पाठ्यपुस्तकों से पहले ही हटा दिए गए थे। इस बीच, NTA  ने JEE Mains की फॉर्म फिलिंग शुरू कर दी है। कैंडिडेट्स 30 नवंबर रात 11:50 बजे तक रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। परीक्षा शहर की जानकारी जनवरी के दूसरे सप्ताह में जारी कर दी जाएगी। स्टूडेंट्स, एडमिट कार्ड परीक्षा से तीन दिन पहले डाउनलोड कर पाएंगे। परीक्षा 24 जनवरी से एक फरवरी तक आयोजित की जाएगी। JEE Mains परिणाम 12 फरवरी को जारी कर दिया जाएगा।

आइए समझते हैं इन तीनों विषयों में क्या बदलाव हुआ है और इसका छात्रों पर क्या असर पड़ेगा:

फिजिक्स – 8 टॉपिक्स कम

फिजिक्स से कुल 8 टॉपिक्स हटाए गए हैं जैसे रोलिंग मोशन, डॉप्लर इफेक्ट, अर्थ मैग्नेटिज्म, साइक्लोट्रोन, रेडियोएक्टिविटी, डैम्पिंग एंड फोर्स्ट ऑसिलेशन, कम्युनिकेशन एंड ट्रांजिस्टर्स और पोटेंशियोमीटर आदि। ये सभी पेचीदा और लंबे टॉपिक्स थे।

इससे फिजिक्स का सिलेबस अब जेईई एडवांस के करीब हो गया है। छात्रों को तैयारी में आसानी होगी।

केमिस्ट्री – 9 टॉपिक्स कम

केमिस्ट्री से गैसियस स्टेट, सॉलिड स्टेट, सरफेस कैमिस्ट्री, हाइड्रोजन, एस-ब्लॉक, एनवायरनमेंटल

कैमिस्ट्री, मैटेलर्जी, पॉलिमर और कैमिस्ट्री इन एवरीडे लाइफ जैसे 9 टॉपिक्स हटाए गए। ध्यानदेय बात यह है कि ये टॉपिक्स जेईई एडवांस में अभी भी हैं।

मैथेमेटिक्स – बड़े टॉपिक्स गायब

मैथ्स से लीनियर इक्वेशन, बायनोमियल को-एफिशिएंट,बर्नोली ट्रायल्स, बायेनोमियल डिस्ट्रिब्यूशन, स्केलर व वेक्टर ट्रिपल प्रोडक्ट सहित विभिन्न टॉपिक्स हटाए गए हैं।

Also Read : CAT 2023 : रिकॉर्ड रजिस्ट्रेशन,3.3 लाख से अधिक छात्रों ने किया रजिस्ट्रेशन, प्रतिस्पर्धा होगी कड़ी

अपार आईडी : छात्रों को मिलेगी नई पहचान, अब आधार की तरह होगा अपना खास नंबर !

अब JEE Mains सिलेबस हल करने में आसान

इस तरह लंबे और पेचीदा टॉपिक्स हटाने से JEE Mains का सिलेबस अब एडवांस जितना ही है। ऐसे में छात्रों को तैयारी करने में आसानी होगी। एनटीए, एनसीईआरटी को फॉलो करता है। जो टॉपिक्स हटाए गए हैं, वे 11वीं व 12वीं की टेक्स्ट बुक से पहले ही हटाए जा चुके हैं। हटाए गए टॉपिक्स लंबे और मुश्किल थे। फिजिक्स और मैथ्स का सिलेबस अब लगभग जेईई एडवांस्ड जैसा ही है। उधर, आईआईटी ऑटोनॉमस है, जो जेईई एडवांस्ड आयोजित करती है। आईआईटी का अपना एग्जाम सिस्टम है। इस वजह से कुछ टॉपिक्स मेन से हटने के बाद भी एडवांस्ड में रह गए हैं।

लेकिन एडवांस में अभी भी कुछ हटाए गए टॉपिक्स शामिल हैं। सो एडवांस की तैयारी करते समय इन पर भी ध्यान देना होगा।

इस बदलाव से जेईई की राह आसान हुई है लेकिन आईआईटी एंट्रेंस अभी भी चुनौतीपूर्ण है। फिर भी, मेहनत और लगन से सफलता जरूर मिलेगी!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *