₹ 4,089 करोड़ का Dividend  देने वाली है यह कंपनी ,  27 दिसंबर को रिकॉर्ड डेट

अनिल अग्रवाल के स्वामित्व वाली वेदांता लिमिटेड ने हाल ही में ₹11 प्रति शेयर का दूसरा interim dividend घोषित किया है। कंपनी ने 27 दिसंबर को रिकॉर्ड तिथि तय की है। इस interim dividend के लिए कंपनी द्वारा खर्च की जाने वाली कुल राशि ₹4,089 करोड़ है। यह डिविडेंड एनाउंसमेंट वेदांता की सब्सिडियरी हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड द्वारा 5 साल में सबसे कम ₹6 प्रति शेयर के सेकंड इंटरिम डिविडेंड की घोषणा करने के बाद आया है।

dividend देने की घोषणा

वेदांता लिमिटेड के बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर्स ने सोमवार 18 दिसंबर 2023 को आयोजित अपनी बैठक में ₹11 प्रति शेयर के दूसरे interim dividend को मंजूरी दी। 27 दिसंबर 2023 को रिकॉर्ड तिथि तय की गई है और कानून के तहत निर्धारित समय-सीमा के भीतर शेयरधारकों को लाभांश का भुगतान किया जाएगा। कुल मिलाकर कंपनी ₹4,089 करोड़ का लाभांश वितरित करेगी। 

वेदांता रिसोर्सेज प्लसी को ₹2,605 करोड़ का डिविडेंड

अब यह डिविडेंड एनाउंसमेंट वेदांता की पेरेंट कंपनी वेदांता रिसोर्सेज प्लसी के पास 63.71% की हिस्सेदारी है जिसका मतलब है कि वेदांता रिसोर्सेज को कुल ₹2,605 करोड़ का डिविडेंड मिलेगा।

vedanta dividend

पिछले Dividends

इससे पहले मई 2022 में कंपनी ने ₹18.50 प्रति शेयर के पहले interim dividend की घोषणा की थी, जिसकी कुल राशि ₹6,877 करोड़ थी। 2022-23 के वित्त वर्ष में कंपनी ने 5 मौकों पर लाभांश घोषित किया था, जिसकी कुल राशि ₹101.50 प्रति शेयर थी। 

कर्ज़ चुकाने की तैयारी

ये लाभांश घोषणाएं वेदांता के जनवरी 2024 में देय $1 बिलियन के कर्ज़ चुकाने से ठीक पहले आई हैं। कंपनी के अध्यक्ष अनिल अग्रवाल ने पहले ही कहा था कि कंपनी के पास कर्ज़ चुकाने के लिए सारे विकल्प खुले हैं। 

डेट रिफाइनेंसिंग के लिए $1.25 बिलियन की डील

पिछले हफ्ते वेदांता की पेरेंट कंपनी वेदांता रिसोर्सेज ने $3.2 बिलियन की 2024 और 2025 में खत्म होने वाली अपनी डेट का रिफाइनेंस या रिपेमेंट करने के लिए प्राइवेट क्रेडिट लेंडर्स से $1.25 बिलियन की रिफाइनेंसिंग फैसिलिटी हासिल की है। यह फंड जुटाना कंपनी को लंबी अवधि के लिए सस्टेनेबल कैपिटल स्ट्रक्चर बनाने और ग्लोबल कैपिटल मार्केट्स तक पहुंच बनाए रखने की क्षमता दिखाने में मदद करेगा।

Also Read : सहारा ग्रुप: क्या अब भी निवेशकों को मिल पाएगा फंसा हुआ पैसा? सरकार ने दिया भरोसे का संकेत

गैर परिवर्तनीय डिबेंचर जारी करने की संभावना

इसके अलावा, वेदांता की समिति 19 दिसंबर को निजी प्लेसमेंट के आधार पर गैर परिवर्तनीय डिबेंचर (एनसीडी) जारी करने का प्रस्ताव भी विचार करेगी। यह कंपनी के नियमित पुनर्वित्त पोषण का हिस्सा है जो व्यापार के सामान्य पाठ्यक्रम में किया जाता है।

एनसीडी जारी करके 4,000 करोड़ जुटाने की तैयारी

इसके अलावा, वेदांता की कमेटी ने 19 दिसंबर को प्राइवेट प्लेसमेंट के ज़रिए गैर परिवर्तनीय डिबेंचर्स (एनसीडी) जारी करने के प्रस्ताव पर विचार करने का फैसला किया है। कंपनी 4,000 करोड़ रुपए इन एनसीडी के ज़रिए जुटाना चाहती है। यह कंपनी के रेग्युलर रिफाइनेंसिंग का हिस्सा होगा जो बिजनेस के नॉर्मल कोर्स में किया जाता है।

इस प्रकार, वेदांता अपने शेयरधारकों को लाभांश देने और निकट भविष्य के बड़े कर्ज़ चुकौतियों के लिए तैयारी करने में लगी हुई है। कंपनी 2024 की शुरुआत में $1 बिलियन से अधिक का कर्ज़ चुकाने वाली है। निवेशकों की निगाहें आने वाले महीनों में कंपनी के कारोबार प्रदर्शन और कर्ज चुकौती क्षमता पर टिकी हुई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *